Homeदेशगुरुग्राम: लॉकडाउन के चलते बेरोजगारी से परेशान युवा की आत्महत्या

गुरुग्राम: लॉकडाउन के चलते बेरोजगारी से परेशान युवा की आत्महत्या

लॉकडाउन में बेरोजगारी से परेशान शख्स ने की आत्महत्या गुरुग्राम में पति ने की पत्नी की बेरहमी से हत्या
दिल्ली से सटे गुरुग्राम में बेरोजगारी और भूख से परेशान एक शख्स ने आत्महत्या कर ली. दरअसल, ये शख्स लॉकडाउन में बेरोजगारी और भूख से परेशान था. मृतक मुकेश पेशे से पेंटर था और लॉकडाउन होने के बाद से पैसों को लेकर परेशान रहने लगा था. जो पैसे उसने बचाकर रखे थे वो धीरे-धीरे खत्म हो गए और हालत ये थे कि कहीं कोई काम भी नहीं था. लिहाजा मुकेश ने अपना मोबाइल फोन बेचकर कुछ दिन परिवार का पेट पाला. फिर उसने घर में ही पंखे से लटक कर खुदकुशी कर ली.
दो दिन पहले उसने अपना 12 हजार के मोबाइल को सिर्फ ढाई हजार में बेच दिया ताकि घर के लिए खाने पीने का सामान लाया जा सके. मुकेश DLF5 में एक कच्चे घर में अपने तीन छोटे बच्चों के साथ रहता था. उसकी पत्नी ने बताया कि घर में खाने को कुछ नहीं बचा था. मुकेश ने खर्चे के लिए कई दोस्तों से पैसे भी लिए और आखिर में फोन बेच दिया.

   पति ने की पत्नी की बेरहमी से हत्या

दूसरी घटना में गुरुग्राम में ही एक पति ने अपनी पत्नी की बेरहमी से हत्या कर दी. घटना राजीव नगर इलाके की है. पुलिस ने पड़ोसियों की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए एक टीम का गठन कर दिया है. पुलिस ने दावा किया है कि जल्द से जल्द आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.
पुलिस के मुताबिक पति-पत्नी मूलरूप से बंगाल के रहने वाले हैं. पिछले कुछ समय से दोनों पीजी में रहते थे. शुक्रवार को इनके कमरे से चहल-पहल न होने के कारण पीजी मालिक और पड़ोसियों ने इसकी सुचना पुलिस को दी, जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने जब कमरे के दरवाजा को तोड़ा और कमरे की तलाशी ली तो बैड के अंदर एक महिला का शव दिखाई दिया. पूछताछ पर पता चला की ये महिला कोई और नहीं बल्कि इसकी पत्नी है, जिसके बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर छानबीन शुरु कर दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments