Homeमध्य प्रदेशMP का स्वास्थ्य विभाग कैसे हुआ कोरोना से बीमार?

MP का स्वास्थ्य विभाग कैसे हुआ कोरोना से बीमार?

सरकार ने अपनी जांच में यह भी पाया है कि मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री के रूप में शिवराज सिंह चौहान के कार्यभार संभालने से कुछ हफ्ते पहले इंदौर के कुछ इलाकों में मौतों में महत्वपूर्ण वृद्धि हुई थी. सूत्रों ने कहा कि किसी को भी शायद उस समय वायरस के प्रसार के बारे में कोई जानकारी नहीं थी.

कोरोना से मध्य प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग भी बीमार है. स्वास्थ्य विभाग के कई अधिकारी और कर्मचारी संक्रमण का शिकार है. आंतरिक जांच में पता चला है कि स्वास्थ्य महकमे में वायरस डिप्टी डायरेक्टर रैंक के एक अधिकारी के माध्यम से फैला, जो एक वोल्वो बस में इंदौर से भोपाल आए थे. इस जांच रिपोर्ट में आईएएस अधिकारियों पल्लवी जैन गोविल और जे विजय कुमार को क्लीन चिट दे दी गई.

इंदौर में संक्रमण की तेज रफ्तार के कारण स्वास्थ्य विभाग पर कई गंभीर आरोप लग चुके हैं.जिन अधिकारी ने ये लापरवाही की है उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा, मध्य प्रदेश में वायरस फैलाने के लिए 100 से अधिक अधिकारियों और कर्मचारियों को जिम्मेदार माना जा रहा है, जो कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं. इन अधिकारियों और कर्मचारियों में से अधिकतर फ्रंट लाइन वॉरियर्स नहीं थे और सचिवालय में बैठे थे, जहां कोरोना वायरस के प्रसार का मुकाबला करने के लिए बैठकें आयोजित की जा रही थीं.

स्वास्थ्य विभाग की जांच में पता चला है कि वायरस का संक्रमण उप स्वास्थ्य निदेशक के कारण फैला, जो इंदौर से ऐसे समय में भोपाल आए थे, जब वायरस इंदौर में फैल चुका था और जब टेस्ट के लिए इंदौर में एक भी नमूना नहीं लिया गया था. इस जांच रिपोर्ट में पल्लवी जैन गोविल और जे विजय कुमार को क्लीन चिट दे दिया गया है. इन दोनों अफसरों पर अपने परिवार की ट्रैवल हिस्ट्री छिपाने का आरोप था. अब सोचना यह है की ऐसे में अधिकारी ही ऐसा कर रहे है तो आगे क्या होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments