Sunday, October 2, 2022
Homeधर्म-संस्कृतिईश्वर की आराधना और आत्मा चिंतन

ईश्वर की आराधना और आत्मा चिंतन

।। पीयूष-प्रबोधन ।।०१।।

अम्बर बरसे धरती भीजे यह जाने सब कोई ।

पर धरती बरसे अम्बर भीजे जाने विरला कोई ।।

प्रतिकूलताओं से बच कर भाग जाने से हम कभी भी सुखी नहीं रह सकते। इनका सामना करके ही जीवन उच्चता को प्राप्त होता है। मानव से महामानव और नर से नारायण कैसे बना जाता है इसके लिए राम और कृष्ण के जीवन को समझना होगा।
दोनों के जीवन में भी बड़ी विषमताएं, प्रतिकूल स्थितियाँ आईं पर वो हताश नहीं हुए, उन्होंने दृढ़ता से उनका सामना कर विजय प्राप्त की। उनकी इसी अद्भुत सामर्थ्य ने एक दिन उन्हें परम वन्दनीय बना दिया।
आज हम विषमता रुपी विष से बचने का प्रयास करते हैं। यही नाहक प्रयास हमारे चेहरे की उदासी का कारण बन जाते हैं । यदि हम डटें रहे…विषम परिस्थितियों का सामना करें अर्थात् प्रतिकूल को अनुकूल बनाने का प्रयास करें तो हमारा जीवन राम-कृष्ण जैसा ना सही उनका भक्त कहलाने के लायक तो बन सकता है परन्तु ये तभी सम्भव है जब सद्गुरु की शरणागति हो…!!
।। गुरु शरणम् ।।
सौजन्य से :- गुरु भ्रातृ मण्डल (कोटद्वार)

34 COMMENTS

  1. Does your bllog һave a contact page? I’m hɑving problems locating іt bսt,
    I’ԁ lіke to send you an e-mail. I’ve got ѕome
    creative ideaas f᧐r your blog you mіght be intеrested іn hearing.
    Еither wаy, great site and I lοok forward to seeing it eexpand ovesr timе.

    My page – discuss

  2. Simply ԝant to say yоur article іѕ ɑs surprising.
    The clarity in ʏoսr post іs just nice ɑnd i could assume yoou аre an expert on thіs subject.

    Fine with ʏour permission alⅼow me t᧐ grab yօur feed t᧐ keep uр tto date wigh forthcoming post.
    Τhanks a millіօn and pleаse continue the enjoyable woгk.

    Αlso visit mу web site; jasa backlink

  3. Do you mind if I quote a few of your posts as long as I provide credit and sources back to your website? My blog site is in the exact same niche as yours and my users would truly benefit from a lot of the information you provide here. Please let me know if this ok with you. Thank you!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments