Sunday, September 25, 2022
Homeट्रेंडिंगमहिला ने लगाया अपशब्द का आरोप       

महिला ने लगाया अपशब्द का आरोप       

              नानकमत्ता, क्षेत्र में सोशल मीडिया पर राशन कोटा धारक का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कोटा धारक पर आरोप है कि राशन लेने आई महिला को कोटा धारक ने राशन से मना कर अपशब्द बोले हैं, सोशल मीडिया पर वीडियो तेजी से वायरल हो रही है, जानकारी के अनुसार सोशल मीडिया पर जारी वीडियो में नानकमत्ता क्षेत्र के बिडोरा मझोला कोटा धारक के पास एक महिला गांव के प्रधान से पर्ची लेकर कोटा धारक के पास राशन लेने गई थी, सोशल मीडिया पर जारी वीडियो में आरोप है कि कोटा धारक ने महिला को अपशब्द बोला, जिससे महिला के पास में  खड़े युवक ने कोटा धारक की वीडियो बनानी शुरू कर दी, वीडियो में दिखाया गया है कि कोटा धारक अपनी दुकान में सामने बैठे हैं, वीडियो बनाने वाला युवक उनसे लगातार कह रहा है कि आपने इस महिला को राशन नहीं दिया लेकिन अब इसका कारण बताओ,अगर आप प्रधान की पर्ची पर राशन नहीं दे सकते ।

तो आप लिख कर क्यों नहीं देते, कोटा धारक वीडियो बनाने वाले युवक को कोई जवाब नहीं देते हैं, वही वीडियो में राशन लेने आई महिला भी सामने आती है, जो वीडियो में आरोप लगाते हैं कि कोटा धारक ब्लैक में राशन बेच देता है, और कोई गरीब व्यक्ति राशन लेने के लिए आए तो उनको नहीं देते हैं, संबंध में जब राशन कोटा धारक नरेश अग्रवाल से बात की गई उनके द्वारा बताया गया कि राशन लेने आई महिला के पास कार्ड नहीं था, वह प्रधान के लिखी पर्ची से राशन लेने आई थी, प्रधान भास्कर संभल ने बताया कि गांव की महिला लक्ष्मी राशन दिलाने की गुहार लेकर आई थी, महिला की मजबूरी देखकर मेरे द्वारा पर्ची लिखी गई जिसमें पैसे लेकर 10 किलो राशन देने की बात भी लिखी थी, लेकिन कोटा धारक द्वारा कुछ अपशब्द बोलने पर विवाद बढ़ गया, फिलहाल राशन कोटा धारक की वीडियो वायरल होने पर सरकार द्वारा दिए जाने वाले फ्री राशन को लेकर ब्लैकमेलिंग के आरोप लग रहे हैं। वहीं उक्त पूरे प्रकरण में पूर्ति निरीक्षक धर्मेंद्र सिंह धामी का कहना है कि मामला शनिवार का है उक्त प्रकरण उनके संज्ञान में आने के बाद उन्होंने मौके पर पहुंच मामले की जांच की। जांच में पता चला कि लाभार्थी का राशन कार्ड ऑनलाइन नही है। उन्होंने बताया कि लाभार्थी को अपना कार्ड ऑनलाइन कराने के लिए वेबसाइट के बारे में बता दिया गया है। कहा कि लाभार्थी का कार्ड ऑनलाइन ना होने के कारण सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेता ने उन्हें राशन देने से इनकार किया होगा।

52 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments