Homeउत्तराखंडस्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार के लिए पूर्व विधायक राजकुमार ने मुख्य सचिव...

स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार के लिए पूर्व विधायक राजकुमार ने मुख्य सचिव को भेजा ज्ञापन

स्वास्थ्य व्यवस्था मे हो रही लापरवाही के चलते आम जनता को रही भारी परेशानियों के निदान तथा स्वास्थ्य में सुधार के लिए अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक राजकुमार ने मुख्य सचिव को भेजा ज्ञापन
ज्ञापन में पूर्व विधायक राजकुमार ने कहा कि प्रदेश कें सभी शहरों में दिन-प्रतिदिन कोरोना (कोविड-19) से ग्रसित लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है तथा प्रदेश के समस्त सहकारी चिकित्सालयों में सुविधाओं के अभावों में गरीब व मजबूर व समान्य वर्ग के लोगों को सरकारी सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं जिसके कारण रोजाना कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है । और उन्होंने कहा कि कोरोना के चलते एसी हालत हो गयी है कि कोरोना ग्रसित मरीजों को कोई भी अस्पताल एडमिट करने को तैयार नहीं है और जो अस्पताल इन्हें एडमिट कर रहे हैं वहां पूर्ण रूप से सभी अस्पताल व वार्ड भर चुके हैं जिस कारण कोरोना ग्रसित मरीजों को उपयुक्त मेडिकल केयर ना मिलने से उनकी मृत्यु हो रही है अधिकांश दवाइयां मरीजों को चिकित्सालयों से उपलब्ध नहीं हो पा रही हंै तथा जन ओषधि केन्द्र मे सारी दवाइयां नहीं मिलती है । जिस कारण उन्हें बाहर से महंगी दवाइयां खरीदनी पड़ रही है। अगर गरीब असहाय लोगों को बाहर से ही दवाइयां लेनी है तो सरकारी चिकित्सालयों का कोई लाभ नहीं है और कोरोना टेस्ट की फीस बड़ा दी गई है जिस कारण आम जनता कोरोना टेस्ट कराने में संकोच कर रही है तथा कोरोना की रिपोर्ट भी बहुत देर से आ रही है इसे ठीक किया जाए । और पूर्व विधायक राजकुमार ने कहा कि राजधानी के राजकीय दून मेडिकल काॅलेज, कोरोनेशन, गांधी शाताब्दी अस्पताल एवं प्रदेश के समस्त सहकारी अस्पतालों में दूर-दूर से गरीब व असहाय लोग आते हैं उनकी समस्याओं को देखते हुए जनहित में आई.सी.यू व एम्बूलेन्स कि सेवा मरीजों को चैबीस घंटे उपलब्ध करायें तथा दून मेडिकल काॅलेज में गरीब असहाय मरीजों को घंटों लाइन में लगा रहना पड़ता है उल्टा उनका स्वास्थ्य और खराब हो जाता है, डाक्टर/फिजिशियन कि संख्या बढ़ाई जाये जिससे मरीज स्वस्थ होकर घर कि ओर जाए तथा सभी प्राइवेट चिकित्सालयों की बंद पड़ी ओ.पी.डी को तुरंत जनहित में खोला जाए । और उन्होंने कहा कि आजकल ऐसे मामले भी सामने आये हैं कि वैक्सीन लगाने के बाद भी लोगों को कोरोना हो रहा है जो कि एक गंभीर विषय है तथा चिकित्सालयों में डाक्टर एवं स्टाफ कि कमी होने के कारण बुजुर्ग, बच्चों एवं कोरोना मरिजों कि देखभाल नहीं हो पा रही है जिस कारण लगातार मृत्यु का आंकड़ा तेजी से बढ़ता जा रहा है। पूर्व में भी कई बार दून चिकित्सालय प्राचार्य, सी.एम.ओ व अन्य अधिकारियों को ज्ञापन सौंपे गए हैं परन्तु अभी तक कोई जनहित में कदम नहीं उठाए गए हैं।
और पूर्व विधायक राजकुमार ने कहा कि उपरोक्त समस्याओं पर अगर गम्भीरता से विचार कर तत्काल इसका समाधान नहीं किया गया तो हमे जनहित मे जनता के साथ धरना प्रदर्शन करने के लिए बाध्य होना पड़ेगा l

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments