Homeउत्तराखंडमहा घोटाला :नगर निगम कोटद्वार में हुआ टेंडर घोटाला

महा घोटाला :नगर निगम कोटद्वार में हुआ टेंडर घोटाला

नगर निगम कोटद्वार एक बार फिर चर्चाओं में है नगर निगम कोटद्वार में पहले सैनिटाइजर में गड़बड़ी का मामला सामने आया जो जैसे तैसे थाम लिया गया लेकिन आप एक टेंडर प्रक्रिया में हुए घोटाले से नगर निगम इन दिनों चर्चा में है होल्डिंग और विज्ञापन के नाम से हुए टेंडर में एक महा घोटाला हो चुका है

सुधीर बहुगुणा उर्फ सुधीर कुमार के द्वारा दिया गया चैक

मामला तब खुला जब एक फाइल किसी आरटीआई कार्यकर्ता के हाथ लग गई जिसमें की सुधीर कुमार के नाम से एक विज्ञापन कंपनी सक्षम एडवाटाइजिग को विज्ञापन का टेंडर दे दिया गया जिसमें दो लाख की FDR/CDR लगनी थी और टेंडर होने पर 50% रकम 7 लाख 3 दिन के अंदर जमा करने थे लेकिन सूत्रों की माने तो नगर आयुक्त और नगर निगम के कर्मचारियों की मिलीभगत से बिना FDR/CDR के उसको 14 लाख का टेंडर दे दिया गया टेंडर की एवज में सुधीर कुमार ने 7 लाख का चैक नगर निगम को दे दिया जो नगर निगम ने तीन दिन के बजाए लगभग एक महीने बाद बैंक में लगाया तो वह बाउंस हो गया तब क्या था मामला खुला जब चैक बाउंस हो गया लोगों में चर्चा का विषय बन गया

बैंक द्वारा चैक बाउंस होने की सूचना

कैसे सुधीर बहुगुणा उर्फ सुधीर कुमार को नगर निगम ने बिना FDR बंधक बनाए टेंडर दे दिया एक बड़ा सवाल है सवाल यह भी खड़ा होता है कि जब हर टेंडर की विज्ञप्ति अखबार में निकलती है तो उसमें कुछ शर्ते होती है बिना शर्तों के अनुपालन के किसकी मिलीभगत से सुधीर कुमार को टेंडर दे दिया गया ,शर्तों के अनुसार सुधीर कुमार को नगर निगम कोटद्वार में दो लाख की FDR/CDR और एडवांस ₹7लाख तीन दिन में जमा करने थे लेकिन चर्चा ये है कि सुधीर कुमार ने न ही वहां ₹2लाख की FDR जमा की और न ही चैक की रकम नगर निगम के खाते में आई , चर्चा गर्म होने पर नगर निगम का घोटाला सामने आया मेयर हेमलता नेगी ने इसकी उच्च स्तरीय जांच के आदेश की बात कही है नगर आयुक्त से अभी बात करनी बाकी है पूर्व नगर निगम अधिकारी नैथानी जी बोलते हैं कि 2लाख की FDR लगाई गई थी लेकिन FDR जमीन कहा गई या आसमान ये चर्चा का विषय है

पता करना बाकी है कि FDR/CDR कहीं खो तो नहीं गई या फिर नगर निगम लगाना भूल गया तपतिष जारी है अखरी गलती किसकी है

आपको जानकारी होगी कि सुधीर कुमार उर्फ सुधीर बहुगुणा वो ही चर्चित संगीतकार जो कोटद्वार के कई संभ्रांत व्यक्तियों पर झूठा SC/st मुकदमा लिखवा चुके है औऱ अभी 30 मई को पुलिस और माफियाओं के साथ मिलकर वरिष्ठ पत्रकार राजीव गौड़ ,मुजीब नैथानी और अनुसूचित जाति के पपेन्द्र सिंह उर्फ भीम पर SC/st का झूठा मुकदमा लिखाया जो सुधीर बहुगुणा की फोन लोकेशन से पता चलता है घटना के समय सुधीर घटना स्थल की जगह बाजार में आशीष किमोठी के साथ थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments