Homeउत्तराखंडपिटकुल के बाद अब UPCL भी बेरोजगारों की सीटों पर लगाएगा कैंची,...

पिटकुल के बाद अब UPCL भी बेरोजगारों की सीटों पर लगाएगा कैंची, 30 फीसदी सीट घटाने पर विचार


उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने पिटकुल और UPCL में JE इलेक्ट्रिकल रिजल्ट से कुछ दिन पहले 42 पद घटा दिए थे। लेकिन अबतक रीजल्ट घोषित नहीं किया, अब इसी भर्ती में पिटकुल के बाद UPCL भी पद घटाने जा रहा है। 252 सीटों वाली परीक्षा में अब तक पिटकुल जहाँ 42 सीटे घटा चुका है तो UPCL भी अब 50 से 60 सीटे घटाने जा रहा है। साल 2016 से अब तक ये भर्ती पूरी नहीं हो पाई है, लेकिन अब रिजल्ट की घड़ी के समय दोनों विभाग पदों को घटा रहे हैं। ऐसा बेरोजगारों को चयन आयोग के मेल के जवाब से कहा जा रहा। 6 साल से रिजल्ट का इंतजार कर रहा बेरोजगार अब डरा है कि पहले तो इसी भर्ती में पिटकुल ने 42 पद घटा दिए और अब UPCL भी बड़ी संख्या में सीटें घटाने जा रहा है। बता दे सीटे कम करने से नाराज बेरोजगार मुख्यमंत्री से मुलाकात भी मुलाकात कर चुके हैं लेकिन मुख्यमंत्री से भी उन्हें आश्वासन नही मिला। इससे पहले बेरोजगार UPCL MD से भी मिल चुके थे।देवभूमि बेरोजगार मंच के अध्यक्ष राम कंडवाल ने कहा कि ऊर्जा विभाग भी मुख्यमंत्री के पास है मुख्यमंत्री को पता होना चाहिए कि 6 साल से ये भर्ती पूरी नहीं हो सकी है, जब रिजल्ट की बारी आई तो पद घटा दिए, और अब मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि जो मेरिट में आएगा वो भर्ती हो जाएगा, बाकी पद सविदा से भर देंगे, ये कैसी सोच है। इसका मतलब साफ है जिन 42 पदों को घटाया गया है वो सविदा में भरे जा चुके हैं, इसलिए पद घटा दिये गए, और UPCL भी पद घटा रहा है ये किसके कहने पर हो रहा है। 6 साल बाद ही पद घटाने की नौबत क्यों आई, दो बार परीक्षा हुई, एडमिट कार्ड आया सब हुआ तब क्यों सोए थे, अचानक ये सब क्यों। देवभूमि बेरोजगार मंच के अध्यक्ष राम कंडवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री को तुरंत पदों को बढ़ाने पर फैसला लेना चाहिए, जिससे उनपर प्रदेश के बेरोजगारों का विस्वास बना रहे। नहीं तो अब बेरोजगार सड़कों पर उतरेगा, जिसका खामियाजा सरकार को भुगतना पड़ेगा। बता दें कि
साल 2016 में UPCL/PTCUL ने JE की 242 पोस्ट निकाली थी, जिसमें (92 पोस्ट PTCUL और 120 पोस्ट UPCL में JE की थी, पुनः उसमें संशोधन होता है और 10 पोस्ट बड़ा दी जाती है, जिसके बाद ये पोस्ट 252 कर दी गयी। साल 2016 में ही परीक्षा होती है, और अंत मे फरवरी 2017 में इसका रिजल्ट आता है। लेकिन धांधली की वजह से तब ये भर्ती रदद कर दी जाती है। मामला कोर्ट में जाता है, और कोर्ट फिर से पेपर कराने के आदेश जारी करता है। और जनवरी 2021 यानी 6 साल चयन आयोग एग्जाम कराता है। सभी छात्र रिजल्ट का बेसब्री से इंतजार ही करते हैं कि आयोग एक आदेश निकालता है कि पिटकुल में जो JE की 92 पोस्ट है,उसे अब घटाकर 50 कर दिया है,पांच साल की कुम्भकर्ण निद्रा के बाद 2016 से 2021 में जाकर 42 पोस्ट कम कर दी जाती है..और अब UPCL भी पद घटाने जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments