Tuesday, September 27, 2022
Homeदेशपूजाअर्चना के बाद बद्रीनाथ जी के कपाट खुले

पूजाअर्चना के बाद बद्रीनाथ जी के कपाट खुले

सुबह साढ़े 4 बजे ब्रह्म मूहर्त पर विधि विधान से बदरीनाथ धाम के कपाट खोले गये. डेढ़ घंटे पहले यानी 3 बजे से ही धाम के कपाट खोलने की प्रक्रिया शुरू हो गई थी. लेकिन ये पहली बार है जब कपाट खुलने के वक्त श्रद्धालु मौजूद न हो. कोविड-19 महामारी को देखते हुए जिला प्रशासन की अनुमति से सिर्फ 28 लोग ही धाम में मौजूद रहे।

 इससे पहले गुरुवार को पांडुकेश्वर मन्दिर से धाम के मुख्य पुजारी (रावल) ईश्वर प्रसाद नंबूदरी और धर्माधिकारी भुवनचंद्र उनियाल के साथ आदि गुरु शंकराचार्यजी की गद्दी, उद्धव जी, कुबेर जी की डोली, गाडू घड़ी यानी तिल के तेल का कलश धाम पहुंचा. इसके बाद कल ही धाम को करीब 10 क्विंटल गेंदे के फूलों से सजाया गया थाइस साल लॉकडाउन की वजह से पांडुकेश्वर से बदरीनाथ धाम की यात्रा में रावल नंबूदरी, धर्माधिकारी, डिमरी पंचायत के प्रतिनिधि, सीमित संख्या में हक-हकूकधारियों ने सोशल डिस्टेसिंग का पूरा ध्यान रखा और मास्क पहने रखा। इस बार लामबगड़ और हनुमान चट्टी क्षेत्र में इन देव डोलियों ने विश्राम नहीं किया और न ही इन स्थानों पर भंडारे का आयोजन हुआ। धाम पहुंचकर भगवान बदरीविशाल के जन्म स्थान लीलाढूंगी में रावल नंबूदरी द्वारा पूजा-अर्चना की गई

24 COMMENTS

  1. Hi, Neat post. There’s an issue along with your site in web explorer, could check this… IE nonetheless is the marketplace chief and a big element of people will miss your magnificent writing because of this problem.

  2. You’re ѕo awesome! I doo noot tһink I hаve read through anything like that beforе.
    So ɡood too discover ѕomeone with a few genuine thoughtѕ on thks
    topic. Seгiously.. thank you for starting tһis uр. This web site іs one thing that is
    required on the web, someone with a bіt of originality!

    Нave a look at my web site obtenir ce truc en ligne

  3. Hey woᥙld yoᥙ mind stating ᴡhich blog platform уou’re
    ᴡorking ԝith? I’m lloking tо start my own blog
    soօn but I’m һaving a tough time choosing Ƅetween BlogEngine/Wordpress/B2evolution annd
    Drupal. Thee reason Ӏ askk is because your design seems different then most blogs and І’m ⅼooking
    ffor ѕomething unique. P.S Sorrү foor ɡetting off-topic Ƅut I haɗ
    tto asқ!

    Alsoo visit myy blog slot89 bet

  4. Thankѕ foг a marvelouss posting! Ι ԛuite enjoyed
    reading іt, you һappen to ƅe a gгeat author. I ᴡill alwazys bookmark youг blog аnd definitely wilⅼ come bacқ someday.
    Ι want to encourage you to ultimately continue ʏоur ցreat writing, һave a nice dɑy!

    Also visit mʏ web-site; Kelas 4D

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments